Sunday, 20 January 2013

राहुल गाँधी - उपाध्यक्ष

राहुल गाँधी के नाम की घोषणा उपाध्यक्ष पद के लिए होने के बाद तो जैसे
हिंदी और अंग्रेजी चैनलों को मन मांगी मुराद मिल गयी। छुट्टी मनाने गए
चैनलो के एंकर तुरंत आपातकालीन स्तिथि में स्टूडियो में वापस आ गए हर कोई
डिबेट में लग गए। राहुल गाँधी अब कांग्रेस रैंकिंग में 2 नंबर पर आ गए।
क्या राहुल गाँधी अब 2014 के प्रधामंत्री दावेदार होंगे? राहुल गाँधी इस
बड़ी भूमिका को कैसे निभाएंगे। कांग्रेस के खिलाफ लोगो के मन में जो एक
आक्रोश है उसे कैसे बदलेंगे। हर चैनल का एंकर अपने तर्क से नया वितर्क दे
रहा था।

राहुल गाँधी कौन है?

राहुल गाँधी, नेहरू - गाँधी
परिवार की सबसे नयी पीढ़ी है। भारत का प्रधानमंत्री बनने के लिए राहुल गाँधी
के पास क्या विशेषताए है तो जवाब में आपको मालूम होगा की वो श्री इंदिरा
गाँधी के पोते है। नेहरु गाँधी परिवार में जन्म लेने वाला व्यक्ति
ही कांग्रेस का मुखिया बनने का क्वालिफिकेशन रखता है। सोनिया गाँधी के बाद
राहुल गाँधी दूसरे नंबर के सबसे बड़े कांग्रेसी नेता है ये बात सभी आम आदमी
जानते है और  उपाध्यक्ष पद के लिए उनके नाम की घोषणा मात्र एक छलावा है।

राहुल
गाँधी UP और बिहार में मूकी खा चुके है। यूपी के विधानसभा चुनाव में
सोनिया और राहुल की क्षेत्र से कांग्रेस ने सिर्फ दो सीट पे विजय पायी और
राहुल गाँधी को राष्ट्रीय नेता बताने वाले ये बात भूल गए की दक्षिण भारत
में कई लोग तो राहुल इस नाम को भी नहीं जानते है। राहुल गाँधी कोई नया
चमत्कार नहीं करने वाले है। कांग्रेस को फिर से जीत के आने के लिए मेहनत
करनी होगी और आम आम आदमी को भरोसा दिलाना होगा की कांग्रेस का हाथ आम आदमी
की मदत के लिए है ना की उनके पॉकेट में छेड़ करके पैसे निकलने के लिए।




Doing Kamaal,
Kamal Upadhyay

No comments:

Post a Comment