Friday, 10 June 2011

M F Hussain



मकबूल फ़िदा हुसैन & विवाद





हुसैन और विवादों का नाता बहुत पुराना है !





महराष्ट्र के एक छोटे गाँव से लेकर कातर तक का सफ़र विवादों भरा रहा है ! Sir J. J. School of आर्ट से अपनी पढाई पूरी करके ! उन्होंने आपना कला जगत का सफ़र शुरू किया ! 





हुसैन को भारत का पिक्कासो भी कहा जाता है ! हुसैन पहेली बार १९९६ मे आपनी कलाकृति सरस्वती से विवादों मे आये ! हिन्दू संघठन ने उनका जम के विरोध किया ! जिससे दोनों को लाभ मिला ! विरोधी दलो ने वोट कमाए और हुसैन ने नोट कमाए !





उसके बाद एक बार फिर २००६ मे वो आपनी कलाकृति भारत माँ ( जो नाम हुसैन ने नहीं दिया है ) से हुसैन विवादों मे आ गए ! हिन्दू दलो के विरोध के कारण हुसैन को बहुत परेशानी हुई ! हुसैन के खिलाफ भारत के बहुत से न्यायालयों मे केस फाइल हुए ! हुसैन ने उसके बाद भारत छोड़ दिया और दुनिया का भ्रमण करने लगे !





२०१० मे हुसैन फिर विवादों मे आये जब उन्होंने कातर की राष्ट्रीयता स्वीकार कर ली ! हुसैन का कहना है की इस उम्र मे वो लोगो से नहीं लड़ना कहते और आपना पूरा ध्यान Dream Project को देना चाहते है ! भारत की Tax policy भी उन्हें नहीं पसंद है !





२००७ मे भारतीय आयकर विभाग ने भारत के कई बड़े आर्ट गैलेरी और कलाकारों पे अपना सीकंजा कसा ! जिसके केसेस आज भी कोर्ट मे विचाराधीन है ! हुसैन को कातर की राष्ट्रीयता मिलने से उनके सभी मामले बंद हो जायेंगे ! जब भारत नहीं आने के इतने फायदे तो भारत आकर क्या फयदा ?





अब हमें भी अपना काम करना चाहिए ! हुसैन कातर मे खुश है ! हमें यहाँ खुश रहना चाहिए ! so after all these Hussain died on 09th June 2011.





People from the Art World came with support on TV platform (this is platform where everyone is getting light now a days)





No Doubt that Hussain death is a great loss to Art World. He left India long time back so there is no point to debate about him. People of India did good or bad let'snot debate this after demise of Hussain.





Let's allow his soul to Rest In Peace.








Doing Kamaal,



No comments:

Post a Comment